10% सीटें बढ़ीं तो एमबीबीएस की 1628 और पीजी की 879 सीटों पर हो सकेंगे एडमिशन

प्रदेश के 10 सरकारी मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस और पीजी की सीटें बढ़ाने का प्रस्ताव एमसीआई (मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया) को भेज दिया है। आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिए सीटों में इजाफा होता है तो एमबीबीएस की कुल 1628 और पीजी की 879 सीटें हो जाएंगी। 

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के छात्रों के लिए केंद्र सरकार 10 फीसदी सीटें आरक्षित रखना चाहती है। इसके लिए देशभर के मेडिकल कॉलेजों से प्रस्ताव मांगे हैं। मप्र के 10 सरकारी मेडिकल कॉलेजों ने एमबीबीएस की 1300 सीटें हैं। इनमें 328 बढ़ाने का प्रस्ताव भेजा है। वहीं इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, भोपाल, रीवा और सागर के सरकारी मेडिकल कॉलेजों में पीजी की 696 सीटों को मान्यता है। 183 सीटें बढ़ाना प्रस्तावित है। सबसे ज्यादा 43 सीटें इंदौर के एमजीएम मेडिकल कॉलेज में बढ़ना हैं। वहीं, भोपाल के गांधी मेडिकल कॉलेज में 42 पीजी सीटें बढ़ाने का प्रस्ताव है। हालांकि एमसीआई ने आवेदन करने की अंतिम तारीख बढ़ाकर 30 मई कर दी है। पहले कॉलेजों को 15 मई तक आवेदन करना थे। एमजीएम मेडिकल कॉलेज द्वारा आवेदन कर दिया गया है। कॉलेजाें के पास संसाधन और मैन पावर तय सीटों की संख्या के हिसाब से अधिक है। 

Leave a Reply

× How can i help you?